मानसिक मंदता / बौद्धिक अक्षमता क्या है? (What is Mental Retardation / Intellectual Disability)



मानसिक मंदता(Mental Retardation)को वर्तमान में बौद्धिक अक्षमता (Intellectual Disability)  भी कहते हैं।
सामान्यतः ऐसे व्यक्ति जिनका IQ (बुद्धिलब्द्धि) 70 से कम होता है उन्हें बौद्धिक अक्षमता (Intellectual Disability) से ग्रसित माना जाता है।


 वर्तमान में भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में मानसिक मंद बच्चो को पागल कहा जाना एवं माना जाना आम बात है लेकिन इसके पीछे कारण क्या है इस बात की जानकारी उन्हें नहीं होती। यहाँ तक कि शहरी या ग्रामीण क्षेत्रों में लोगो के पास शिक्षा होते हुए भी उन्हें विशेष शिक्षा एवं विशेष बालको की आवश्यकताओं के बारे में जानकारी  नहीं होती है या फिर बहुत कम होती है। इसीलिए मानसिक मंदता या बौद्धिक अक्षमता से ग्रसित बच्चो को कई कठिनाइयाँ स्वाभाविक ही हो जाती है।


मानसिक मंदता या बौद्धिक अक्षमता क्या है ? इसके Types और Stages  क्या हैं ? इसके लक्षण क्या होते हैं ? इसके Causes क्या हैं तथा इसका उपचार (Treatment) क्या है ? इन सब बातो की पूरी जानकारी इस Article में दी गयी है।       



मानसिक मंदता/बौद्धिक अक्षमता  (Mental Retardation/Intellectual Disability) -



मानसिक मंदता एक मानसिक अवस्था है जोकि व्यक्ति में 18 साल से पहले ही हो सकती है। चूँकि यह एक मानसिक अवस्था है इसीलिए इसे पूर्णतया ठीक तो नहीं किया जा सकता किन्तु  विभिन्न प्रशिक्षण के द्वारा इसके प्रभावों को कम किया जा सकता है।

मानसिक मंदता क्या है ? इस बात को स्पष्ट करने के लिए मानसिक मंदता एवं दिव्यांगता के क्षेत्र में काम करने वाली बहुत सारी संस्थाओं ने समय-समय पर  अपने -अपने शोध के अनुसार कुछ परिभाषाएं दीं हैं। मानसिक विकारों /अक्षमता को वैश्विक स्तर पर तीन मुख्य संस्थाओं AAIDD, DSM और WHO के द्वारा लगातार परिभाषित एवं परिष्कृत किया जाता रहा है।  जिनमे से AAIDD (American Association for Intellectual  Developmental Disabilities) विश्व का सबसे पुराना और सबसे बड़ा व्यावसायिक संगठन है  जो मानसिक मंद बच्चों के लिए कार्य करने में अग्रणी माना जाता है।


AAIDD  (American Association for Intellectual  Developmental Disabilities) 2012 के अनुसार -


बौद्धिक अक्षमता एक अक्षमता है जिसमें व्यक्ति की बौद्धिक क्षमता और अनुकूलनीय  व्यवहार में महत्वपूर्ण कमी पायी जाती है और यह कमी उसके सांकल्पनिक ,सामाजिक और प्रायोगिक कौशलों में परिलक्षित होती है। इस अक्षमता का आरम्भ 18 वर्ष से पूर्व होता है। 

यहाँ पर अनुकूलनीय व्यवहार से तात्पर्य  उन दैनिक क्रियाओं से है जिसके द्वारा हम वातावरण को अपने अनुकूल बनाने के लिए करते हैं। उदाहरण के लिए हमें ठण्ड लगती है तो हम चादर ओढ़ते या गर्म कपड़े पहनते है।



इसे भी पढ़े -


अबेकस क्या होता है?   (What Is Abacus?)




मानसिक मंदता का वर्गीकरण (Classification of Mental Retardation) -


मनोवैज्ञानिक वर्गीकरण (Psychological Classification)-



यह वर्गीकरण व्यक्ति की बुद्धिलब्धि (IQ) पर आधारित होता है।

  • Mild MR : इस श्रेणी के अंतर्गत ऐसे मानसिक मंदित व्यक्तियों को रखा जाता है जिनका  IQ Level 50 से 69 तक होता है। 

  • Moderate : इस श्रेणी के अन्तर्गत आने वाले व्यक्तियों का IQ 49 से 35 तक ही होता है।

  • Severe : इस श्रेणी के व्यक्तियों का IQ 34 से 20 तक होता है। 
  • Profound : इस श्रेणी के अंतर्गत ऐसे मानसिक मंदित व्यक्तियों को रखा जाता है जिनका  IQ Level 20 से कम  होता है। 

चिकित्सकीय वर्गीकरण (Medical Classification) -


यह वर्गीकरण व्यक्ति के लक्षणों पर आधारित होता है जैसे -

  • पोषण 
  • संक्रमण एवं नशा
  • मानसिक रोग 
  • गुणसूत्रीय असमानता 
  •  पर्यावरणीय कारण
  • जन्मपूर्व अज्ञात कारण इत्यादि।


मानसिक मंदता / बौद्धिक अक्षमता के लक्षण (Symptoms of Mental Retardation / Intellectual Disability) -



  • बच्चों में विकासात्मक देरी जैसे -बैठना ,खड़े होना ,चलना ,बोलना आदि क्रियाएं उसी उम्र के अन्य सामान्य बच्चों की तुलना में  देर से सीखना।
  • गामक कौशलों में कमी(Poor Motor Co-ordination) जैसे -किसी वस्तु को हाथ से पकड़नें एवं फेंकने में कठिनाई होना।
  • Slow Reaction अर्थात बच्चे का देर से हँसना , मुस्कुराना और देर से रोना। 
  • Lack of Concentration अर्थात बच्चे की एकाग्रता में कमी। जब बच्चों को कोई कार्य सिखाया जाता है तो बच्चा एकाग्र होकर कार्य को नहीं सीखता हैं। ऐसे बच्चों का खेल में भी मन एकाग्र नहीं रहता है जिससे ये बच्चे खेल में भी पिछड़  जाते हैं।
  •   Poor  Memory (याददाश्त में कमी) 
  • असाधारण व्यवहार (Abnormal Behaviour) जैसे -अचानक से रोने लगना , हंसने लगना ,गुस्सा करना , वस्तुएं फेंकना इत्यादि।
  • मानसिक मंदित बच्चों  में समाजिक कौशल ज्यादा विकसित नहीं होते हैं अर्थात Poor Social Skills  इसीलिए  ये बच्चे सामाजिक रूप से पिछड़े हुए होते हैं यही कारण है की इनके दोस्त भी  कम  ही होते हैं।
  • दैनिक जीवन के कार्य स्वयं न कर पाना। 
  • भाषा का सही प्रयोग न कर पाना।  
  • दैनिक जीवन के कार्य स्वयं न कर पाना।




 मानसिक मंदता के कारण (Causes of Mental Retardation)



जन्म से पूर्व के कारण (Prenatal Causes) -



  • प्रत्येक मानव की कोशिका में 23 जोड़ा गुणसूत्र होते हैं।  प्रत्येक व्यक्ति आधे गुणसूत्र माता से तथा आधे गुणसूत्र पिता से प्राप्त करता है।  इन गुणसूत्रों की  त्रुटि से समस्या उत्पन्न हो सकती है और इन स्थितियों में से अधिकांश स्थितियां मानसिक मंदता का कारण होती हैं। 


Example - जैसे 21 वें संख्या पर अतिरिक्त गुणसूत्र हो जाता है तो इसके कारण Down Syndrome उत्पन्न होता है जिससे व्यक्तियों में दूर -दूर स्थित तीरछी आँखे , खुला मुँह , मोटी जीभ , छोटी अंगुलियां आदि शारीरिक लक्षण दिखाई देते हैं। 
  • माता के खानपान में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी भी मानसिक मंदता का मुख्य कारण है। 
  • माता के नशा एवं धूम्रपान करने के कारण बच्चे को मानसिक मंदता  हो सकती है।
  • माता में  संक्रमण जैसे रूबेला , मीजल्स  ,हर्पीज इत्यादि के होने के कारण भी बच्चे को मंदता  है। 
  • माता को मधुमेह एवं उच्च रक्तचाप की समस्याएं होने से भ्रूण को क्षति पहुंचती है जिससे बच्चे को मानसिक मंदता का शिकार होना पड़ सकता है। 
  • गर्भावस्था के प्रारंभिक महीने में अत्यधिक X-Rays करवाना तथा हानिकारक दवाइयाँ  लेना। 
  • गर्भावस्था के समय माता के गिरने से पेट में चोट लग जाने से बढ़ते हुए भ्रूण को क्षति पहुंच सकती है और यह मानसिक मंदता का कारण भी हो सकता है। 
  • माता को गंभीर दौरे आना जिनका इलाज संभव न हो। यह भी मानसिक मंदता का कारण हो सकता है।  



जन्म के समय के कारण (Natal Causes) -


बच्चे के जन्म के समय के भी कुछ कारण  होते हैं जिससे मानसिक मंदता होने की संभावना होती है जैसे -


  • नवजात शिशु को विभिन्न कारणों से तीव्र पीलिया। 
  • नवजात शिशु के सिर में विभिन्न कारणों से रक्तस्राव।
  • शिशु का वज़न बहुत काम होना (2.5 kg से कम होना)
  • यदि शिशु जन्म के तुरंत बाद साँस नही ले रहा तो उसे मानसिक मंदता हो सकती है क्योंकि यदि मस्तिष्क को 4 -5  मिनट के लिए ऑक्सीजन नहीं दी जाती है तो उसकी क्षति हो जाती है।
  • प्रसव के समय शिशु के सिर में औज़ार से चोट लगने से। 
  • प्रसव के समय माता को बेहोशी एवं पीड़ानाशक दवाइयां अत्यधिक देने से बच्चे को मानसिक मंदता हो सकती है। 



जन्म के बाद के कारण (Post Natal Causes) -



बच्चे का बिना किसी समस्या के जन्म होने बावजूद भी कुछ ऐसी समस्याएं होती है जिनके कारण बच्चा जन्म के बाद में भीं मानसिक मंदता का शिकार हो सकता है  जैसे -

  • बच्चे में कुपोषण (Malnutrition)
  • बच्चे में तेज़ मस्तिष्क ज्वर भी मानसिक मंदता का कारण हो सकता है। 
  • बच्चे को बार -बार दौरा पड़ने से मस्तिष्क क्षतिग्रस्त हो सकता है तथा मानसिक मंदन का कारण हो सकता है। दुर्घटना या गिरने से मस्तिष्क में चोट लग जाने के कारण मानसिक मंदता हो सकती है। 



उपचार एवं देखभाल (Treatment and Care) -



मानसिक मंदता कोई बीमारी नहीं है बल्कि यह एक अवस्था है जो कि जीवन भर रहती है इसके उपचार के लिए अभी तक कोई भी ऐसी दवा (Medicine) नहीं खोजी जा सकी है जो इसको ठीक कर सके किन्तु इसे मनोवैज्ञानिक (Psychologist) ,मनोचिकित्सक एवं विशेष शिक्षक की सहायता से विभिन्न प्रशिक्षण देकर बच्चे की कठिनाइओं के स्तर को कम किया जा सकता है। 
                                                                                     अतः ऐसे बच्चो के Parents के लिए आवश्यक होगा कि वह दवा के लिए इधर - उधर न भटके बल्कि जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी अपने बच्चे को किसी मनोवैज्ञानिक (Psychologist)  या मनोचिकित्सक को दिखाएँ और उनके द्वारा दी गयी सलाह के अनुसार तथा बच्चे की जरुरत के अनुसार बच्चे को  किसी विशेष विद्यालय (Special School) में प्रशिक्षण के लिए भेजें।  



प्रत्येक बच्चे के लिए उसका पहला स्कूल उसका परिवार होता है तथा माता -पिता उसके पहले गुरु  होते हैं इसीलिए बच्चे को जितना अधिक उसके माता -पिता तथा परिवार के लोग सिखा सकते हैं उतना कोई भी विशेष शिक्षक तथा कोई भी विशेषज्ञ नहीं सिखा सकता। मानसिक मंदित बच्चों की देखभाल के लिए इनके Parents को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए  इसीलिए Parents अपने  बच्चे को कोई भी कार्य छोटे - छोटे भागो में करके सिखाएं ,कार्य सही करने पर उसे पुरुस्कार दें ,प्रोत्साहित करें तथा कोई भी बात बहुत ही सरल भाषा में बताएं।

Parents बच्चे को समाज में घुलने - मिलने का मौका दें , उन्हें खेलने के प्रेरित करें तथा Parents बच्चे से प्यार से बात करे , उन्हें मारे - पीटे नहीं  क्योंकि उसकी असफलता का कारण लापरवाही नहीं बल्कि उसकी असमर्थता है।

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप अपने दोस्तों के साथ इसे Share करें  और उन्हें भी जागरूक करें।



इसे भी पढ़े -


अबेकस क्या होता है? (What Is Abacus?)












मानसिक मंदता / बौद्धिक अक्षमता क्या है? (What is Mental Retardation / Intellectual Disability) मानसिक मंदता / बौद्धिक अक्षमता क्या है? (What is Mental Retardation / Intellectual Disability) Reviewed by Aman pal on 12:04 Rating: 5

2 comments:

Powered by Blogger.